Latest News

भारत की लिन्थोई चनंबम ने रचा इतिहास, वर्ल्ड कैडेट जूडो चैंपियनशिप्स में जीता गोल्ड

भारत ने एक बार फिर पूरी दुनिया को साबित कर दिखाया है कि भारत अब किसी चीज में विश्व में किसी से पिछे नही है। इस बार यह कमाल हुआ है खेल में और यह खेल है जूडो का। जी हां, हमारे देश की लिन्थोई चनंबम (Judoka Linthoi Chanambam) ने यह इतिहास रचा है. वर्ल्ड कैडेट जूडो चैंपियनशिप्स (World Cadet Judo Championships) में गोल्ड मेडल जीतने वाली 15 साल की चनंबम प्रथम भारतीय हैं. आज से पहले किसी भी भारतीय ने इस चैंपियनशिप में कोई भी मेडल नहीं हासिल किया है। उनकी इस बेहतरीन कामयाबी पर सब उनको शुभकामनाएं दे रहे हैं।

आपको बता दें कि वह इंफाल के एक छोटे से गरीब किसान परिवार की रहने वाली हैं और उन्होंने यहां तक के अपने सफर में कई सारी कठिनाइयों का सामना किया है और तब जा कर वह यहां तक पहुंची हैं। उनके सामने तो मुसीबतों का पहाड़ तब टूटा था, जब वह कोविड के दौरान एक दूसरे देश में बिना किसी सहायता के फंस गई थी और कई महीनों तक वहीं अटकी रही।

असल में हुआ कुछ यूं कि कोविड के दौरान वह एक टूर्नामेंट खेलने बाहर गई थी और अचानक लॉकडाउन लगने के बाद वह वहीं फंस गई। अब आखिर वह करे तो क्या करे, तो ऐसे में वहां के मुख्य कोच ने उनको अपने जगह में पनाह दी और लगभग 8 महिनों तक अपने पास ही रखा। साथ ही साथ कोचिंग भी दी। उन्होंने कहा कि इस लड़की का भविष्य काफी उज्ज्वल है और यह जरूर कुछ बड़ा करेगी।

उम्मीद है वो इसी तरह आगे भी मेडल लाती रहें और अपने देश का नाम पूरी दुनिया के सामने ऊंचा करती रहें। हमें देश की इस बेटी पर गर्व है

Related Articles